कोरोना संकट के बीच भारत के आईटी प्रोफेशनल्स के लिए अच्छी खबर है। देश की चार दिग्गज आईटी कंपनियां TCS, Infosys, Wipro और HCL Tech देश के आईटी प्रोफेशनल्स को बड़े पैमाने पर नौकरी देने का बड़ा कदम उठा रही हैं। ये चार कंपनियां कुल मिलाकर इस साल देश के करीब 1 लाख फ्रेशर्स को नौकरियां ऑफर करेंगी।





भारत की टॉप की आईटी कंपनियों TCS, Infosys और Wipro ने अनेकों कंपनियों द्वारा उनके संचालन को डिजिटाइज किये जाने के कारण बढ़ी हुई सॉफ्टवेयर सर्विस की मांग को पूरा करने के लिए पिछले साल की तुलना में FY21 में 45 प्रतिशत ज्यादा नौकरियां दी हैं।


आईटी प्रोफेशनल्स को नौकरी देने का ये सिलसिला वेतन बढ़ोत्तरी और बोनस के साथ जारी रहेगा। इस साल आईटी सेक्टर में बढ़ी हुई मांग को पूरा करने के लिए TCS, Infosys, Wipro और HCL Tech इस साल कुल मिलाकर करीब 1 लाख नये लोगों को अपनी कंपनियों में नौकरी देंगे।


दुनिया सबसे बड़ी आईटी कंपनियों में से एक टीसीएस ने कहा है कि कंपनी द्वारा FY 22 में 40 हजार नये लोगों को नौकरियां दी जायेंगी और इसके साथ ही कंपनियों की कुल कर्मचारियों की संख्या 5 लाख से ज्यादा हो जायेगी। वहीं इंफोसिस द्वारा इस वित्तीय वर्ष में 26 हजार नये लोगों को नौकरियां दी जायेगी जबकि एचसीएल टेक द्वारा इस साल 12 हजार लोगों को हायर किया जायेगा।


यद्यपि विप्रो द्वारा यह नहीं बताया गया है कंपनी इस साल कितने लोगों को नई नौकरियां देगी लेकिन कंपनी के मुख्य मानव संसाधन अधिकारी (Chief Human Resources Officer) सौरभ गिल ने कहा कि कंपनी द्वारा पिछले साल की तुलना में वित्त वर्ष 2022 के दौरान ज्यादा लोगों को नौकरियां दी जायेंगी। बता दें कि पिछले साल यानी वित्त वर्ष 2021 में कंपनी ने 9 हजार नये लोगों को नौकरियां दी थी।