अगर आपका खाता SBI, ICICI Bank, HDFC, Axis Bank, PNB में है तो आपको अलर्ट रहने की जरूरत है. क्योंकि एक रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि ऑनलाइन चोर इन पांच बैंकों के ग्राहकों की निजी जानकारियां चुराने के लिए उन्हें लालच देकर लुभाने की कोशिश कर रहे हैं. 

                     

निशाने पर SBI, ICICI Bank, HDFC, Axis Bank, PNB के ग्राहक 

नई दिल्ली स्थित थिंक टैंक साइबरपीस फाउंडेशन की ओर से साइबर सिक्योरिटी कंपनी ऑटोबोट इंफोसेक के साथ मिलकर की गई एक जांच में इसका खुलासा किया गया. इसमें बताया गया है कि साइबर अपराधी लोगों से कह रहे हैं कि अगर उन्हें इनकम टैक्स का भुगतान चाहिए तो एक एप्लीकेशन भेजें, इस संदेश को एक लिंक के साथ भेजा जा रहा है, इस लिंक को क्लिक करते ही एक नया पेज खुलता है जो हूबहू इनकम टैक्स की असली वेबसाइट जैसा दिखता है.

निजी, बैंकिंग जानकारियां चुरा रहे साइबर अपराधी

रिपोर्ट में बताया गया है कि ये लिंक अमेरिका और फ्रांस से ऑपरेट हो रहा है, जिससे साइबर अपराधी लोगों की निजी और बैंकिंग जानकारियां चुरा रहे हैं, इससे लोगों को वित्तीय नुकसान होने की आशंका है. इस पूरी योजना में 'http' प्रोटोकॉल का इस्तेमाल किया जा रहा है, न कि सिक्योर 'https' का. लोगों से लिंक भेजकर कहा जा रहा है कि Google Playstore की बजाय वो किसी थर्ड पार्टी सोर्स से एप्लीकेशन को डाउनलोड करें. 


लोगों को SMS के जरिए भेजा जा रहा है लिंक

लोगों को भेजे गए लिंक को क्लिक करते ही एक नया पेज खुलता है जो बिल्कुल income tax e-filing वेबसाइट जैसा दिखता है. हर रंग के बटन जिस पर लिखा होता है 'Proceed to the verification steps' को क्लिक करते ही ये आपसे कई सारी जानकारियां मांगता है, जैसे आपका पूरा नाम, PAN, आधार नंबर, पता, पिन कोड, जन्मतिथि, मोबाइल नंबर, ई-मेल, लिंग, बैंकिंग जानकारियां जैसे अकाउंट नंबर, IFSC कोड, कार्ड नंबर, एक्सपायरी डेट, CVV, CVC और कार्ड पिन.

सरकार DIU लाने की तैयारी में 

बढ़ते साइबर अपराध को देखते हुए सरकार ऑनलाइन फ्रॉड पर शिकंजा कसने की तैयारी में है. सरकार डिजिटल इंटेलीजेंस यूनिट (DIU) लाने की तैयारी में है, IT मंत्रालय इस योजना पर काम कर रहा है. डिजिटल इंटेलीजेंस यूनिट पुलिस, साइबर सेल और बैंकों के साथ सामंजस्य बैठाकर काम करेगी. DIU पेमेंट सर्विस प्रोवाइडर और टेलीकॉम ऑपरेटर के साथ भी मिलकर काम करेगी. 


ऑनलाइन फ्रॉड से ऐसे बचें 

डिजिटल होती बैंकिंग व्यवस्था ने चीजों को आसान करने के साथ साथ खतरे भी पैदा किए हैं. साइबर क्राइम से बचने के लिए आपको कुछ सावधानियां जरूर बरतनी चाहिए. इनमें से कुछ हम आपको बताने जा रहे हैं. 


1. कभी भी किसी के साथ अपना OTP न शेयर करें.

2. अगर आपके पास कोई ऐसा SMS आता है जिसमें कोई लिंक दिया हुआ है, तो उसे कतई न खोलें. ऑनलाइन फ्रॉड करने वाले हमेशा SMS भेजते रहते हैं, जिसमें एक लिंक होता है. इस लिंक को क्लिक करते ही आप ऑनलाइन फ्रॉड का शिकार हो जाएंगे. 

3. QR कोड के जरिए भी फ्रॉड को अंजाम दिया जाता है. इसलिए ऑनलाइन ट्रांजैक्शन में QR कोड को स्कैन करने से पहले ये देख लें कि पैसे आपके अकाउंट से जा रहे हैं या आ रहे हैं. ऐसे फ्रॉड आमतौर पर OLX पर ज्यादा देखने को मिलते हैं.

4. हमेशा बड़ी और अच्छी वेबसाइट से ही ऑनलाइन शॉपिंग करें. किसी भी अनजान साइट से शॉपिंग न करें. ऐसी वेबसाइट पर सामान बहुत ज्यादा सस्ते में दिखाकर फ्रॉड किया जाता है. फ्रॉड के बाद ऐसी कंपनियों से संपर्क करना भी मुश्किल होता है 

5. अपना क्रेडिट/डेबिट कार्ड सामने स्वाइप कराएं. छोटे ट्रांजैक्शन के लिए कार्ड टैप करें. अपने ATM का पासवर्ड किसी से भी न शेयर करें.