देश का विदेशी मुद्रा भंडार पांच मार्च को समाप्त सप्ताह में 4.255 अरब डॉलर घटकर 580.299 अरब डॉलर रह गया. भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के शुक्रवार को जारी आंकड़ों में यह जानकारी दी गई है. इससे पहले के सप्ताह में विदेशी मुद्रा भंडार 68.9 करोड़ डॉलर बढ़कर 584.554 अरब डॉलर हो गया था. विदेशी मुद्रा भंडार 29 जनवरी 2021 को समाप्त सप्ताह में 590.185 अरब डॉलर के रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गया था.



रिजर्व बैंक के आंकड़ों के अनुसार पांच मार्च को समाप्त सप्ताह में विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियों (FCA) में गिरावट की वजह से मुद्रा भंडार में कमी हुई है. विदेशीमुद्रा परिसंपत्तियां, कुल विदेशी मुद्रा भंडार का अहम हिस्सा होती है. रिजर्व बैंक के साप्ताहिक आंकड़ों के अनुसार समीक्षाधीन अवधि में एफसीए 3.002 अरब डॉलर घटकर 539.613 अरब डॉलर रह गयीं. एफसीए को दर्शाया डॉलर में जाता है, लेकिन इसमें यूरो, पौंड और एन जैसी अन्य विदेशी मुद्रा सम्पत्ति भी शामिल होती हैं. आंकड़ों के अनुसार देश के स्वर्ण भंडार का मूल्य 1.206 अरब डॉलर घट कर 34.215 अरब डॉलर हो गया.

IMF के साथ एसडीआर में आई गिरावट

देश को अंतरराष्ट्रीय मु्द्रा कोष (IMF) में मिला Special Drawing Rights 1.1 करोड़ डॉलर घटकर 1.506 अरब डॉलर रह गया. आईएमएफ के पास आरक्षित मुद्रा भंडार भी घटकर 4.965 अरब डॉलर रह गया. इसमें 36 मिलियन डॉलर की गिरावट आई है.

साप्ताहिक आधार पर रुपया 23 पैसा मजबूत

कच्चे तेल की कीमतों में मामूली गिरावट आने के बीच अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपये की विनिमय दर में लगातार तीसरे कारोबारी सत्र में तेजी रही. अमेरिकी मुद्रा के मुकाबले शुक्रवार को रुपया 12 पैसे मजबूत होकर 72.79 पर पहुंच गया. अंतरबैंक विदेशी विनिमय बाजार में डॉलर के मुकाबले रुपया 72.66 पर मजबूत खुला. कारोबार के दौरान आरंभिक लाभ कुछ कम हो गया. अंत में, यह अपने पिछले बंद स्तर के मुकाबले 12 पैसे मजबूत होकर 72.79 प्रति डॉलर पर बंद हुआ. तेजी के पिछले तीन सत्रों के दौरान रुपया प्रति डॉलर 46 पैसे मजबूत हुआ है. साप्ताहिक आधार पर रुपये में 23 पैसे यानी 0.31 प्रतिशत की मजबूती आई है.