सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक  Fortune ब्रैंड नेम से खाने का तेल बनाने वाली Adani Wilmar बाजार में 5000 करोड़ रुपये का आईपीओ लाने की तैयारी में है। इसके लिए कंपनी ने इंवेस्टमेंट बैंकर और लीगल एडवाइजर की नियुक्ति भी कर ली है।





सूत्रों के मुताबिक Adani Wilmar ने अपने इस प्रस्तावित आईपीओ के प्रबंधन के लिए JP Morgan और Kotak Mahindra Capital को लीड मैनेजर नियुक्त किया है। JP Morgan और Kotak Mahindra Capital ने इस आईपीओ के draft red herring prospectus पर काम भी शुरू कर दिया है।


बता दें कि Adani Wilmar, Adani Enterprises Ltd और Wilmar International Ltd के बीच मिलकर बनी समान भागीदारी वाली ज्वाइंटवेंचर है। सूत्रों के मुताबिक इस आईपीओ के तहत शेयरों के फ्रेश इश्यू और JV partners कs शेयरों की बिक्री दोनों तरीकों से पूंजी जुटाने का प्रस्ताव है। लेकिन अभी इस पर चर्चा ही हुई है कोई अंतिम निर्णय नहीं लिया गया है।


बता दें कि शेयर मार्केट में जोश को देखते हुए एक के बाद एक आईपीओ का तांता लग गया है। आईपीओ में रिकॉर्ड सब्सक्रिप्शन भी देखने को मिल रहे हैं। Adani Wilmar भी निवेशकों के इस जोश का फायदा उठाने की तैयारी में है।


अगर यह आईपीओ सफलता के साथ बाजार में आ जाता है तो अदानी विल्मर, अदानी ग्रुप की बाजार में लिस्ट होने वाली सातवीं कंपनी होगी। अदानी ग्रुप की अन्य दूसरी कंपनियां जो लिस्ट हैंइनमें Adani Enterprises, Adani Ports and Special Economic Zones Ltd, Adani Transmission Ltd, Adani Power Ltd, Adani Total Gas Ltd और Adani Green Energy Ltd शामिल हैं।


इस खबर  पर अदानी विल्मर और जेपी मॉर्गम ने कोई भी टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है। जबकि कोटक महिंद्रा को भेजे गए ई-मेल का कोई जवाब नहीं मिला है। बता दें कि अदानी विल्मर खाने के तेल बनाने वाली बड़ी कंपनी है जो सोयाबीन, सरसों, सन फ्लावर, राइस ब्रॉन का तेल बनाती है।


भारत में कंपनी के फॉर्च्यून ब्रांड के खाद्य तेल की 20 फीसदी हिस्सेदारी है। देश भर में कंपनी की 40 यूनिटें हैं। जहां प्रतिदिन 16,800 टन से ज्यादा तेल की रिफाइनिंग होती है। कंपनी की बीज पेराई क्षमता 6,000 टन प्रति दिन है। इसकी पैकेजिंग कैपिसिटी 12,900 टन प्रति दिन है।


बता दें कि अदानी विल्मर बासमती राइस, दालों, सोया चंक और आटे के पैकेजिंग कारोबार में भी है। कंपनी दुनिया भर के 19 से ज्यादा देशों को निर्यात करती है।