RailTel Corporation IPO: सरकार की इनफॉरमेशन और कम्युनिकेशन टेक्नोलॉजी (ICT) इंफ्रास्ट्रक्चर वाली इस कंपनी का IPO आज यानी 16 फरवरी को खुला है और 18 फरवरी को बंद होगा। इसमें सरकार अपनी 27 फीसदी हिस्सेदारी यानी 8.7 करोड़ शेयर बेच रही है। हालांकि इस इश्यू से जुटाई गई रकम कंपनी को नहीं मिलेगी बल्कि सरकार लेगी। RailTel Corporation सरकार की मिनिरत्न कंपनी है।


                                   



क्या करें निवेशक?


कंपनीन की डेट फ्री बैलेंसशीट को देखते हुए हर ब्रोकरेज हाउस ने इस इश्यू में निवेश करने की सलाह दी है। कंपनी का वैल्यूएशन अच्छा है और लगातार डिविडेंड पे करती है। इसके साथ ही इंडियन रेलवे के डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन में RailTel का अहम योगदान हो सकता है।


RailTel की 66 फीसदी आमदनी टेलीकॉम सेक्टर से आती है। जबकि आमदनी का बाकी हिस्सा रेलवे और दूसरी परियोजनाओं से हासिल होता है।


सैमको सिक्योरिटीज के इक्विटी हेड निराली शाह ने कहा, "रेलटेल अगर सही ढंग से काम करती है तो देश में 5G की ग्रोथ से इसे फायदा होगा क्योंकि कंपनी को फाइबर बिछाने का काम मिल सकता है। इसके अलावा RailTel की भूमिका रेलवे के डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन के लिहाज से भी बेहतर है।"


RailTel के IPO से जुड़ी अहम बातें


इसके इश्यू का प्राइस बैंड 93-94 रुपए प्रति शेयर है। इसका एक लॉट 155 शेयरों का है। जबकि कोई रिटेल इनवेस्टर्स मैक्सिमम 13 लॉट के लिए बोली लगा सकता है।


RailTel का इश्यू साइज 87,153,369 शेयरों का है। सरकार IPO में इतने शेयर बेचने की तैयारी में है।


रिटेल इनवेस्टर्स के लिए इश्यू में 35 फीसदी हिस्सेदारी रिजर्व है। QIB का  कोटा 50 फीसदी का है। जबकि NII का कोटा 15 फीसदी का है। कंपनी के कर्मचारियों के लिए भी कोटा रिजर्व किया गया है। सरकार ने कर्मचारियों के लिए 5 लाख शेयर रिजर्व किए हैं।