Adani Group की फ्लैगशिप होल्डिंग कंपनी Adani Airports होल्डिंग्स लिमिटेड (AAHL) ने मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (MIAL) में एसीएसए ग्लोबल लिमिटेड (ACSA) और बिड सर्विसेज डिवीजन (Mauritius) लिमिटेड से 1,685.25 करोड़ रुपये में 23.5 फीसदी हिस्सेदारी हासिल की है. एक रेग्युलेटरी फाइलिंग में अडाणी एंटरप्राइजेज ने कहा कि एएचएल ने एमआईएएल के 28.20 करोड़ इक्विटी शेयर हासिल किए हैं. एएचएल अडाणी एंटरप्राइजेज की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी भी है.


                                


फाइलिंग में कहा गया है,  Adani Airports  ने एसीएसए ग्लोबल लिमिटेड और बिड सर्विसेज डिवीजन (मॉरीशस) लिमिटेड से मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड के 10 रुपए के 23.5 फीसदी इक्विटी हिस्सेदारी यानी 28,20,00,000 इक्विटी शेयर हासिल किए हैं.

2 मार्च 2006 को शामिल, एमआईएएम छत्रपति शिवाजी महाराज अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे के विकास, निर्माण और संचालन के कारोबार में लगे हुए हैं. पिछले साल अगस्त में एएचएल ने जीवीके एयरपोर्ट डेवलपर्स लिमिटेड (जीवीकेडीएल) के कर्ज को हासिल करने के लिए एक समझौता किया था, जिसके बदले में अडाणी समूह को एमआईएएल में नियंत्रण ब्याज हासिल करने में मदद मिलेगी.

नवी मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट के विकास का काम भी  Adani Groupके हाथ में आ जाएगा

जीवीकेडीएल वह होल्डिंग कंपनी है, जिसके माध्यम से जीवीके समूह के पास मुंबई अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डा लिमिटेड (एमआईएएल) में 50.50 फीसदी इक्विटी हिस्सेदारी है, जो बदले में नवी मुंबई अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे लिमिटेड में 74 फीसदी इक्विटी हिस्सेदारी रखती है.

AAI से 3 अन्य एयरपोर्ट्स पहले ही ले चुका है अडाणी ग्रुप

Adani Group ने पिछले साल के आखिर में AAI से मंगलुरु, लखनऊ और अहमदाबाद एयरपोर्ट्स का अधिग्रहण कर लिया था. इस साल जुलाई तक वह जयपुर, गुवाहाटी और तिरुवनंतपुरम एयरपोर्ट का भी अधिग्रहण कर लेगी. अडाणी ग्रुप इन 6 एयरपोर्ट्स का विकास, प्रबंधन और परिचालन अगले 50 साल तक करेगा. यात्री संख्या के लिहाज से हालांकि अभी GMR देश का सबसे बड़ा एयरपोर्ट ऑपरेटर है. GMR के पास दिल्ली का IGIA, हैदराबाद और गोवा का मोपा एयरपोर्ट भी है.