कोरोना महामारी के चलते एयरलाइंस इंडस्ट्री बुरे हालत से गुजर रही है। स्थिति में सुधार के लिए भारत की प्राइवेट एयरलाइन कंपनी गोएयर (GoAir) इनीशियल पब्लिक ऑफरिंग (IPO) की योजना बना रही है। इसके जरिए कंपनी करीब तीन हजार करोड़ रुपए जुटाना चाहती है।

                                        


ऑफर फॉर सेल में 30% हिस्सेदारी बेच सकता है वाडिया ग्रुप
एयरलाइन कंपनी में वाडिया ग्रुप की बड़ी हिस्सेदारी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक IPO में वाडिया ग्रुप 30% हिस्सेदारी बेच सकता है। खास बात यह है कि कंपनी 2017 से IPO लाने कोशिश में है, लेकिन सफलता नहीं मिली। रिपोर्ट के मुताबिक कंपनी ने IPO के लिए सिटी ग्रुप, ICICI सिक्योरिटीज और मॉर्गन स्टैनली को इन्वेस्टमेंट बैंकर नियुक्त किया है। कंपनी IPO से मिलने वाली रकम का इस्तेमाल सामान्य कॉर्पोरेट कार्यों और कर्ज को कम करने में करेगी।

एयरलाइन कंपनी पर लगातार कर्ज बढ़ रहा है
गोएयर पर 31 मार्च, 2019 तक कुल 1,819 करोड़ रुपए का कर्ज था, जो लगातार बढ़ रहा है। साथ ही महामारी के कारण एयरलाइंस कंपनियों की बैंक फंडिंग भी प्रभावित हुई है। पिछले वित्त वर्ष में कंपनी का नेट प्रॉफिट 123 करोड़ रुपए और रेवेन्यू 6262 करोड़ रुपए था। वाडिया ग्रुप गोएयर के साथ-साथ बॉम्बे डाइंग, बॉम्बे बुमराह, ब्रिटानिया बिस्किट, नेशनल पैरोक्साइड और बॉम्बे रियलिटी को भी ऑपरेट करती है।

6 महीने में स्पाइस जेट का शेयर 90% और इंडिगो का शेयर 80% चढ़ा
अनुमान के मुताबिक अगर गोएयर का IPO लॉन्च होता है, तो इसकी मार्केट वैल्यू स्पाइस जेट से कम होगी। 9 फरवरी को स्पाइस जेट का मार्केट कैप 5,277.96 करोड़ रुपए और इंटरग्लोब एविएशन (इंडिगो) का 64,495.43 करोड़ रुपए है। बीते छह महीने में इंडिगो का शेयर 5 फरवरी तक 80% और स्पाइस जेट का 90% चढ़ा है। गोएयर की रोज 300 फ्लाइट्स 27 डेस्टिनेसंस के लिए उड़ान भरती है। घरेलू पैसेंजर ट्रैफिक में कंपनी की हिस्सेदारी 8.6% है।

अगले हफ्ते खुलेगा न्यूरेका का IPO

न्युरेका लिमिटेड का IPO 15 फरवरी से खुलेगा। कंपनी इसके जरिए 100 करोड़ रुपए जुटाना चाहती है। IPO का प्राइस बैंड 396-400 रुपए तय किया गया है। यह 17 फरवरी को बंद हो जाएगा। IPO से जुटाई गई रकम का इस्तेमाल सामान्य कॉर्पोरेट कार्यों के लिए किया जाएगा। इसमें 75% शेयर क्लालिफाइड इंस्टिच्यूशनल बायर्स (QIB) के लिए रिजर्व होगा। खास बात यह है कंपनी ने अपने कर्मचारियों को प्रति शेयर 20 रुपए डिस्काउंट देने की भी बात कही है।