दुनिया की सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency ) बिटकॉइन (Bitcoin ) को कनाडा में बड़ी कामयाबी हासिल हुई है. कनाडा सरकार ने करोबारियों के (bitcoin price)  हित में बड़ा फैसला किया है और बिटकॉइन के ETF (Exchange Traded Fund) को मंजूरी दे दी है. इसका मतलब ये होगा कि निवेशक ETF के जरिए बिटकॉइन में पैसा लगा सकेंगे.

                                


कारोबारियों को होगा फायदा

ETF के जरिए बिटकॉइन में सीधे निवेश किया जा सकेगा. ऐसा फैसला करने वाला कनाडा दुनिया का पहला देश बन गया है. दुनिया के कई देश बिटकॉइन को ग्रीन सिग्नल   (bitcoin price) नहीं दे रहे हैं लेकिन कनाडा ने ऐतिहासिक फैसला किया है जिससे कारोबारियों को बहुत फायदा होगा.  ईटीएफ के जरिए निवेशकों को बहुत फायदे मिलेंगे. बिटकॉइन को प्रीमियम के बजाय शुद्ध संपत्ति मूल्य (Net Asset Value ) पर खरीदा जा सकेगा.


कारोबारियों को होगा फायदा

ETF के जरिए बिटकॉइन में सीधे निवेश किया जा सकेगा. ऐसा फैसला करने वाला कनाडा दुनिया  (bitcoin price)  का पहला देश बन गया है. दुनिया के कई देश बिटकॉइन को ग्रीन सिग्नल नहीं दे रहे हैं लेकिन कनाडा ने ऐतिहासिक फैसला किया है जिससे कारोबारियों को बहुत फायदा होगा.  ईटीएफ के जरिए निवेशकों को बहुत फायदे मिलेंगे. बिटकॉइन को प्रीमियम के बजाय शुद्ध संपत्ति मूल्य (Net Asset Value ) पर खरीदा जा सकेगा.

2009 में आया था बिटकॉइन

बिटकॉइन को 2009 में लॉन्च किया गया था. लॉन्चिंग के बाद से ही बिटकॉइन लगातार कामयाबी  (bitcoin price) हासिल कर रहा है. 9 फरवरी 2011 को पहली बार इसकी कीमत एक डॉलर पर पहुंची थी और आज की बात करें तो बिटकॉइन का भाव 47,725.00 डॉलर तक पहुंच गया है. भारतीय मुद्रा के हिसाब से बिटकॉइन की कीमत 34 लाख 71 हजार 594 रुपये और 38  पैसे हो गई जबकि 2009 में इसकी कीमत महज 35 रुपये थी.