रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) और टाटा ग्रुप के बीच रिटेल और ई-कॉमर्स सेक्टर में कारोबारी जंग चल रही है। अब यह जंग रिटेल पेमेंट सेगमेंट में भी जारी रह सकती है। देश के तेजी से बढ़ते रिटेल पेमेंट सेगमेंट में उतरने के लिए RIL और टाटा ग्रुप न्यू अम्ब्रैला एंटिटी (NUE) बनाने जा रहे हैं। इसके लिए दोनों ने कई नामी-गिरामी देसी-विदेशी कंपनियों के साथ साझेदारी की है।



RIL ने गूगल और फेसबुक से हाथ मिलाया

NUE बनाने के लिए रिलायंस इंडस्ट्रीज ने अमेरिका की दिग्गज इंटरनेट कंपनी गूगल और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक से हाथ मिलाया है। इन कंपनियों के सहयोग से रिलायंस यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (UPI) जैसे पेमेंट नेटवर्क बनाएगा। इस NUE को रिलायंस की यूनिट, इन्फीबीम एवेन्यू की सब्सिडियरी सो हम भारत (So Hum Bharat), गूगल और फेसबुक संयुक्त रूप से प्रमोट करेंगे। इस नई एंटिटी में फेसबुक और गूगल की समान हिस्सेदारी होगी। यह कंसोर्टियम भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के पास NUE का आवेदन करने के लिए एडवांस्ड स्टेज में पहुंच चुका है।

SBI के आवेदन को टेकओवर करेगा टाटा ग्रुप

संभावित कंपटीशन जोखिम को देखते हुए वित्त मंत्रालय ने NUE गठित करने के लिए स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) के आवेदन पर रोक लगा दी है। अब टाटा ग्रुप SBI के आवेदन को टेकओवर करेगा। टाटा ग्रुप अपनी सब्सिडियरी फरबाइन प्राइवेट लिमिटेड के जरिए NUE को प्रमोट करेगा। भारती एयरटेल की यूनिट भारती डिजिटल ने फरबाइन की 10% हिस्सेदारी खरीदने ली है। संभावित NUE में HDFC बैंक और कोटक महिंद्रा बैंक ने 9.9%-9.9% हिस्सेदारी खरीद ली है। मास्टरकार्ड और नैस्पर का पेयू भी इस कंसोर्टियम का हिस्सा होंगे। इस कंसोर्टियम में SBI की भी हिस्सेदारी हो सकती है।

NPCI जैसा नेटवर्क बनाएंगे दोनों ग्रुप

देश में रिटेल पेमेंट या डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने के लिए RBI ने पिछले साल इस सेगमेंट को प्राइवेट सेक्टर के लिए खोल दिया था। इसके लिए RBI ने गाइडलाइंस भी जारी की थीं। RBI की गाइडलाइंस के मुताबिक, प्राइवेट कंपनियां रिटेल पेमेंट के लिए नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) जैसी अम्ब्रैला एंटिटी बना सकेंगी। इसके लिए कंपनियों को RBI से लाइसेंस लेना होगा।

ये कंसोर्टियम भी NUE बनाने की रेस में

  • ICICI बैंक, अमेजन, एक्सिस बैंक, पाइन लैब्स, बिलडेस्क और वीजा कार्ड।
  • इंडसइंड बैंक, पेटीएम, ओला फाइनेंशियल, सेंट्रम फाइनेंस, जेटापे और ईपीएस।

NPCI का एकाधिकार खत्म होगा

रिटेल पेमेंट सेगमेंट में प्राइवेट कंपनियों के प्रवेश करने से NPCI का एकाधिकार खत्म होगा। मौजूदा समय में रुपे, UPI, नेशनल ऑटोमेटिड क्लीयरिंग हाउस समेत सभी प्रकार की रिटेल पेमेंट सेवाओं के लिए NPCI अम्ब्रैला एंटिटी के तौर पर काम करती है।

RBI ने NUE के लिए आवेदन की डेडलाइन बढ़ाई

RBI ने NUE के लिए आवेदन करने की डेडलाइन बढ़ा दी है। अब NUE के लिए 31 मार्च 2021 तक आवेदन किया जा सकता है। सभी हितधारकों और इंडियन बैंक्स एसोसिएशन (IBA) ने RBI से डेडलाइन बढ़ाने की मांग की थी। इससे पहले NUE के लिए आवेदन करने की अंतिम तारीख 26 फरवरी थी।